(Last Updated On: April 18, 2012)

नारी

समाज करता नहीं क्यों? विचार,
नारी समाज में क्यों है? इतनी लाचार।
पुरुष प्रधान समाज सदा करता है अत्याचार,
नारी बाध्य है सहने को व्यभिचार।

                                          नारी कहीं दुर्गा, कहीं काली,
                                          कहीं शक्ति के रूप में पूजी जाती।
                                          क्या वास्तव में है उसकी यह स्तिथि
                                          यदि नारी में है इतनी शक्ति,
                                          तो पुरुष करता नही क्यों उसकी भक्ति।

क्यों नारी का सदैव भोग्या के रूप में हुआ है आँकलन,
क्यों नही होता उसका योग्यता से मूल्यांकन।

                                          नारी की इस बाध्यता का केवल पुरुष ही है ज़िम्मेदार,
                                          क्या नारी स्वयं नही है इसकी भागीदार।
                                          यदि नारी उठ खड़ी हो इस अन्याय के विरुद्ध,
                                          तो कर सकती है पुरष प्रधान समाज के मार्ग को अवरुद्ध।

<———— ***** ————>
मुख्य पृष्ठ पर लौंटे

DMCA.com Protection Status

Leave a Reply