Meri Ek Maitri Ne Kaha

मेरी एक मैत्री ने कहा

इस्लाम वह पहला धर्म,
जिसने दी औरतों को आज़ादी।
तो फिर सारी दुनिया मूर्ख जो कहती,
इस्लाम ही है औरतों की बरबादी।
                               क्या यही है इस्लाम जो,
                               तीन तलाक को माने जायज़।
                               औरतों को कुचले और,
                               तालीम को बताये नाजायज़।
नकाब में रहना है अदबी,
जो गर सरक जाए तो बेअदबी।
शौहर करे तलाक की गलती,
बीबी हलाला के आग में जलती।
                               औरत गर आवाज़ उठाये,
                               चारों ओर मातम छा जाए।
                               यही है इस्लाम की आज़ादी,
                               जो औरतों की करे बरबादी। 

<———— ***** ————>


मुख्य पृष्ठ पर लौंटे

DMCA.com Protection Status

Leave a Reply

Close Menu